तृतीय आंग्ल-मैसूर युद्ध के कारण एवं परिणाम का वर्णन करें

तृतीय आंग्ल-मैसूर युद्ध

तृतीय-आंग्ल मैसूर युद्ध तृतीय आंग्ल-मैसूर युद्ध अंग्रेजों और मैसूर के शासक टीपू सुल्तान के बीच लड़ा गया था. इस युद्ध में हैदराबाद के निजाम तथा मराठे अपने स्वार्थ को लेकर …

Read more

प्लासी युद्ध के परिणामों का वर्णन करें

प्लासी युद्ध के परिणाम

प्लासी युद्ध सैनिक दृष्टिकोण से प्लासी युद्ध का कोई विशेष महत्व नहीं है क्योंकि यह युद्ध सैन्य शक्ति नहीं बल्कि एक षड्यंत्र का सहारा लिया गया था. किंतु इसके परिणाम …

Read more

प्लासी युद्ध तथा इसके कारणों का वर्णन करें

प्लासी युद्ध के कारण

प्लासी युद्ध प्लासी युद्ध सिराजुद्दौला और अंग्रेजों के बीच 23 जून 1757 ई. को प्लासी नामक गांव में हुआ था. इस युद्ध में सिराजुद्दौला के पास लगभग 50,000 सेना थी …

Read more

हैदर अली के कार्यों और उपलब्धियों का वर्णन करें

हैदर अली के कार्यों और उपलब्धियों का वर्णन करें

हैदर अली के कार्य हैदर अली के कार्यों और उपलब्धियों का अध्ययन करने पर हम पाते है कि भारतीय मध्यकालीन इतिहास में उसका बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान है. साधारण कृषक …

Read more

यूरोपीय कम्पनियों के भारत आगमन के उद्देश्यों पर प्रकाश डालिए

यूरोपीय कम्पनियों के भारत आगमन के

यूरोपीय कम्पनियों के भारत आगमन के उद्देश्य भारत और यूरोपीय देशों के साथ व्यापारिक संबंध प्राचीन काल से ही चली आ रही थी. यूरोप के व्यापारी अपने यहां से सामान …

Read more

पानीपत के तृतीय युद्ध के परिणामों का वर्णन कीजिए

पानीपत के तृतीय युद्ध

पानीपत के तृतीय युद्ध पानीपत की तीसरी युद्ध भारत के राजनीतिक इतिहास के लिए बहुत ही बड़ा महत्व है. इस युद्ध के परिणामों ने भारत की राजनीति में  बहुत ही …

Read more

सत्रहवीं सदी में मराठा शक्ति के उदय के कारणों का वर्णन करें

मराठा शक्ति के उदय

मराठा शक्ति के उदय 17 वीं शताब्दी में मराठा शक्ति का उदय होना भारतीय इतिहास का बहुत ही महत्वपूर्ण घटना थी. मराठा शक्ति के उदय के बाद भारतीय राजनीति में …

Read more

पानीपत के तृतीय युद्ध के कारणों की व्याख्या करें

पानीपत के तृतीय युद्ध

पानीपत के तृतीय युद्ध अफगान देश के एक कबीले के नेता अहमदशाह अब्दाली ने 1761 ई  में पांचवीं बार आक्रमण किया. उनका ये आक्रमण भारत के तत्कालीन मराठा साम्राज्य के …

Read more

Telegram
WhatsApp
FbMessenger
error: Please don\'t copy the content.