फासीवाद और नाजीवाद में अंतर बताइए

फासीवाद और नाजीवाद

नाजीवाद की उत्पत्ति फासीवाद से ही हुई है. यही कारण है दोनों के सिद्धांतों में काफी समानताएं हैं. दोनों ही राष्ट्र को सर्वोपरि मानते थे, दोनों हिंसा तथा युद्ध में विश्वास करते थे. दोनों तानाशाही और सैन्य शासन के समर्थक थे. दोनों के सिद्धांतों में समानताएं होने के बावजूद दोनों के बीच कुछ असमानताएं भी हैं.

फासीवाद और नाजीवाद में अंतरफासीवाद और नाजीवाद में अंतर

नाजीवाद

  • नाजीवादी विचारधारा के लोग रक्त की शुद्धता पर बल देते हैं.
  • नाजीवादी लोग चर्च तथा उसके सिद्धांतों को नहीं मानते थे.
  • नाजीवादी विचारधारा के लोगों कम नैतिकतावादी थे.
  • नाजी अपने तानाशाह को फ्यूहरर कहते थे.

फासीवाद और नाजीवाद में अंतर
फासीवाद

  • फासीवाद विचारधारा के लोग रक्त की शुद्धता पर बल नहीं देते थे.
  • फासीवादी विचारधारा के लोग चर्च तथा उसके सिद्धांतों को मानते थे.
  • फासीवादी लोग अधिक नैतिकतावादी वाले लोग थे.
  • फासीवादी अपने तानाशाह को ड्यूस कहते थे.

इन्हें भी पढ़ें:

Note:- इतिहास से सम्बंधित प्रश्नों के उत्तर नहीं मिल रहे हैं तो कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट करें. आपके प्रश्नों के उत्तर यथासंभव उपलब्ध कराने की कोशिश की जाएगी.

अगर आपको हमारे वेबसाइट से कोई फायदा पहुँच रहा हो तो कृपया कमेंट और अपने दोस्तों को शेयर करके हमारा हौसला बढ़ाएं ताकि हम और अधिक आपके लिए काम कर सकें.  

धन्यवाद.

Leave a Comment

Telegram
WhatsApp
FbMessenger
error: Please don\'t copy the content.